भारत माता संकट में है हमें अपना फर्ज निभाना

भारत माता संकट में है,
हमें अपना फर्ज निभाना,
ना घर से बाहर जाना,
घर में ही बैठे रहना।।

तर्ज – जहाँ डाल डाल पर सोने की।



गर विदेशों में मौत का तांडव,

देख के तुम ना संभले,
मनमानी की और घर से निकले,
मौत तुम्हें भी निगले-2,
खुद को बचा ले मानव तू,
परिवार को मिटने न देना,
ना घर से बाहर जाना,
घर में ही बैठे रहना।।



ईश्वर खुद डॉक्टर नर्स पुलिस,

बनकर दुनिया में आये,
परिवार को अपने छोड़ आए,
औरो की जान बचाये-2,
करते प्रणाम है कोटी उनके,
सम्मुख शीश झुकाना,
ना घर से बाहर जाना,
घर में ही बैठे रहना।।



कहते मोदी जी हाथ जोड़,

तुम अपनी जान बचा लो,
परिवार मोहल्ले और शहर,
भारत को आज बचा लो-2,
गर देश पे छाई इस विपदा को,
जड़ से मार भगाना,
ना घर से बाहर जाना,
घर में ही बैठे रहना।।



भारत माता संकट में है,

हमें अपना फर्ज निभाना,
ना घर से बाहर जाना,
घर में ही बैठे रहना।।

गायक / प्रेषक – मुकेश चंद्र सेन।
9460730139


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें