भजन श्याम के गा ले रे बन्दे कल रहे ना रहे

मेरे सांसो की सरगम ये कहे,
मेरे भजनों की धुन भी ये कहे,
भजन श्याम के गा ले रे बन्दे,
कल रहे ना रहे।।



कौन जाने किस गली में,

जिंदगी की शाम हो,
जिंदगी की शाम हो,
उसके पहले ये जिंदगी,
श्याम के ही नाम हो,
श्याम के ही नाम हो,
किसने दी है दिल को पीड़ा,
याद रहे ना रहे,
मेरे साँसो की सरगम ये कहे,
मेरे भजनों की धुन भी ये कहे।।



फूलों सी ये जिंदगी तो,

एक दिन मुरझायेगी,
एक दिन मुरझायेगी,
हम रहे या ना रहे,
ये यादे ही रह जाएगी,
यादे ही रह जाएगी,
चलता रहे भजनों का सफर ये,
जाँ रहे न रहे,
मेरे साँसो की सरगम ये कहे,
मेरे भजनों की धुन भी ये कहे।।



है हकीकत मौत अपनी,

एक दिन तो आएगी,
एक दिन तो आएगी,
पल दो पल की जिंदगी फिर,
खाक में मिल जाएगी,
खाक में मिल जाएगी,
चलता रहे भजनो का सफर ये,
हम रहे ना रहे,
मेरे साँसो की सरगम ये कहे,
मेरे भजनों की धुन भी ये कहे।।



मेरे सांसो की सरगम ये कहे,

मेरे भजनों की धुन भी ये कहे,
भजन श्याम के गा ले रे बन्दे,
कल रहे ना रहे।।

लेखक – स्व. श्री रमेश जी वर्मा “विमलेश”
कवि व गीतकार, रतलाम म. प्र.
Upload By – Priyanjay Ke Shyam Bhajan


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें