भजन कर मस्त जवानी में बुढ़ापा किसने देखा है भजन लिरिक्स

भजन कर मस्त जवानी में बुढ़ापा किसने देखा है भजन लिरिक्स

भजन कर मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



कान से बहरे हो जाओगे,

भजन तुम सुन नहीं पाओगे,
भजन सुन मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



आँख से अंधे हो जाओगे,

दर्श तुम कर नहीं पाओगे,
दर्श कर मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



मुँह से गूंगे हो जाओगे,

भजन तुम गा नहीं पाओगे,
भजन गाले मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



हाथ से लूले हो जाओगे,

दान तुम कर नहीं पाओगे,
दान कर मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



पैर से लंगड़े हो जाओगे,

तीर्थ तुम कर नहीं पाओगे,
तीर्थ कर मस्त जवानी में,
बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।



भजन कर मस्त जवानी में,

बुढ़ापा किसने देखा है,
भजन कर मस्त जवानी मे,
बुढ़ापा किसने देखा है।।


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें