भगवा रंग चढ़ा है ऐसा और रंग ना भाएगा लिरिक्स

भगवा रंग चढ़ा है ऐसा,
और रंग ना भाएगा,
जय श्री राम के नाम का नारा,
घर घर से अब आएगा,
अयोध्या की नगरी में अब,
केसरिया लहराएगा,
केसरिया केसरिया म्हारो,
केसरिया केसरिया।।



मात्र भूमि के कण कण पर अब,

राम नाम लिखा जाएगा,
भारत माता हर्ष रही है,
श्री राम घर आएगा,
अयोध्या की नगरी में अब,
केसरिया लहराएगा,
केसरिया केसरिया म्हारो,
केसरिया केसरिया।।



हनुमत को रंग ऐसा चढ़ा है,

राम नाम गुण गाएगा श्री,
राम की जन्मभूमि पर,
स्वर्ण मंदिर बन जाएगा,
अयोध्या की नगरी में अब,
केसरिया लहराएगा,
केसरिया केसरिया म्हारो,
केसरिया केसरिया।।



दासमोहन श्री राम की,

माला जपते ही आएगा,
विजय राव ओर सुनीता को,
भगवा रंग चढ़ जाएगा,
अयोध्या की नगरी में अब,
केसरिया लहराएगा,
केसरिया केसरिया म्हारो,
केसरिया केसरिया।।



भगवा रंग चढ़ा है ऐसा,

और रंग ना भाएगा,
जय श्री राम के नाम का नारा,
घर घर से अब आएगा,
अयोध्या की नगरी में अब,
केसरिया लहराएगा,
केसरिया केसरिया म्हारो,
केसरिया केसरिया।।

गायक – विजय राव / सुनीता बाग़री।
लेखक – दासमोहन अलिसिखा।
संगीत- रेमो।
9941270001


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें