मैया जी के चरणों में ठिकाना चाहिए भजन लिरिक्स

मैया जी के चरणों में ठिकाना चाहिए भजन लिरिक्स

मैया जी के चरणों में,
ठिकाना चाहिए,
बेटा जो बुलाए माँ को,
आना चाहिए।।



सुन लो ओ माँ के प्यारो,

तुम प्रेम से पुकारो
आएगी शेरावाली,
जगदम्बे मेहरावाली,
वो देर ना करेगी,
झोली सदा भरेगी,
पूरी करेगी आशा,
मिट जाएगी निराशा,
बिगड़े काम संवारे,
भव से वो सब को तारे,
श्रद्धा और प्रेम से,
बुलाना चाहिए,
बेटा जो बुलाए माँ को,
आना चाहिए।।



विनती सुनो हमारी,

ऐ मैया ओशिया वाली,
तेरे दर पे है सवाली,
जाना नहीं है खाली,
बैठे है डेरा डाले,
तेरे भक्त भोले भाले,
तेरे नाम के दीवाने,
आए है जा लुटाने,
मैया दीदार दे दो,
बच्चो को प्यार दे दो,
हीरे मोतियों का ना,
खजाना चाहिए,
बेटा जो बुलाए माँ को,
आना चाहिए।।



अकबर ने आजमाया,

ध्यानु ने था बुलाया,
ऐ राजरानी आओ,
अम्बे भवानी आओ,
जाए ना लाज मेरी,
सुन लो आवाज मेरी,
दरबार देखता है,
संसार देखता है
घोडे़ का सर कटा है,
मेरा भी सिर झुका है,
गुरुर अभिमानी का,
मिटाना चाहिए,
बेटा जो बुलाए माँ को,
आना चाहिए।।



मैया जी के चरणों में,

ठिकाना चाहिए,
बेटा जो बुलाए माँ को,
आना चाहिए।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें