बीता जाए सांवरे हर महीना हर साल भजन लिरिक्स

बीता जाए सांवरे,
हर महीना हर साल,
तू एक बार देख ले बाबा,
तू एक बार देख ले बाबा,
तेरे भक्त का है बुरा हाल,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।

तर्ज – देना हो तो दीजिये।



तेरे दरश को पाने खातिर,

अँखियाँ बहुत तरसती है,
तेरी याद में आँखे बाबा,
बस दिन रात बरसती है,
तेरे दरश के खातिर बाबा,
तेरे दरश के खातिर बाबा,
दर बैठा तेरा लाल,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।



तू ही शंकर तू ही ब्रम्हा,

तू ही कृष्ण कन्हैया है,
दे दे सहारा श्याम सांवरे,
बीच भंवर में नैया है,
ना रहे सांवरे मन में,
ना रहे सांवरे मन में,
मेरी मोह माया जंजाल,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।



हर जीवन में श्याम सांवरे,

तुझको ही बस पाऊं मैं,
इतनी दया कर देना सांवरे,
खाटू में बस जाऊं मैं,
तू बन कर साथी बाबा,
तू बन कर साथी बाबा,
इस जीवन को संभाल,
तू बन कर साथी बाबा,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।



दुनिया की परवाह नहीं,

‘जानवी’ गुण तेरे गाती है,
हर ग्यारस पे श्याम सांवरे,
तेरे दर पर आती है,
इस ‘अविनाश’ के बाबा,
इस ‘अविनाश’ के बाबा,
हर संकट को तू टाल,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।



बीता जाए सांवरे,

हर महीना हर साल,
तू एक बार देख ले बाबा,
तू एक बार देख ले बाबा,
तेरे भक्त का है बुरा हाल,
बीता जाए साँवरे,
हर महीना हर साल।।

Singer – Janvi Agarwal


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें