बस गए रघुनंदन सरकार हो रही जग में जय जयकार लिरिक्स

बस गए रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार,
मेरे राम मेरे राम,
मेरे रघुनंदन सरकार,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

तर्ज – गोरी कब से हुई।



पूरी अयोध्या कहलाती है,

राम जनम की भूमि,
जहाँ राम ने जन्म लिया है,
हिन्दू धरम की भूमि,
हर एक हिन्दू का अरमान,
मंदिर बनेगा आलिशान,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।



बैर करे जो श्रीराम से,

वह रावण कहलाये,
बजरंग दल से जो टकराए,
लंका सा जल जाये,
आंधी आये या तूफ़ान,
बच्चा बच्चा है कुर्बान,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।



इस मंदिर में राम की मूरत,

होगी प्यारी प्यारी,
राम सेवकों की क़ुरबानी,
करेगी सेवा दारी,
गाओ राम का गुण गान,
होगा होगा जगकल्याण,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।



बस गए रघुनंदन सरकार,

हो रही जग में जय जयकार,
मेरे राम मेरे राम,
मेरे रघुनंदन सरकार,
बस गये रघुनंदन सरकार,
हो रही जग में जय जयकार।।

Singer / Lyrics – Mukesh Kumar


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें