बालाजी आओ कीर्तन में हनुमान जी भजन लिरिक्स

आज सजाया दरबार,
बालाजी आओ कीर्तन में,
राम के आज्ञाकार,
बालाजी आओ कीर्तन में।।



ज्योत जगाये तुम्हे मनाये,

सवा मणि का भोग लगाए,
ज्योत जगाये तुम्हे मनाये,
सवा मणि का बाबा भोग लगाए,
आके दो दीदार,
बालाजी आओ कीर्तन में।।



कोतवाल भैरव को लाना,

प्रेतराज को भूल ना जाना,
कोतवाल भैरव को लाना,
प्रेतराज को भूल भी ना जाना,
कर दो सभी का उध्दार,
बालाजी आओ कीर्तन में।।



तेरे नाम की फेरी है माला,

आके कर दो घट में उजाला,
बाबा तेरे नाम की फेरी है माला,
आके कर दो घट में उजाला,
दूर करो अंधकार,
बालाजी आओ कीर्तन में।।


 

आज सजाया दरबार,
बालाजी आओ कीर्तन में,
राम के आज्ञाकार,
बालाजी आओ कीर्तन में।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें