बड़े नाजुक है मेरे हालात कन्हैया मेरी लाज रखना भजन लिरिक्स

बड़े नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कहलाते हो तुम दीनानाथ,
कहलाते हो तुम दीनानाथ,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।

तर्ज – गली में आज चाँद।



हमको ठगा है अपनों ने ही,

लूट लिया है सपनो ने ही,
मेरी कुछ भी नहीं है औकात,
मेरी कुछ भी नहीं है औकात,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।



उलझन भी अब बढ़ती जाए,

हालत भी अब बिगड़ती जाए,
मेरे बस में नहीं है अब ये बात,
मेरे बस में नहीं है अब ये बात,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।



मेरी बिगड़ी बात बना दो,

खुशियों से जीवन महका दो,
चाहूँ इतनी सी बस सौगात,
चाहूँ इतनी सी बस सौगात,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।



है अनमोल ये लाज का गहना,

इसके बिना बेकार है जीना,
‘मोहित’ दिल के हैं ये जज़्बात,
‘मोहित’ दिल के हैं ये जज़्बात,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।



बड़े नाजुक है मेरे हालात,

कन्हैया मेरी लाज रखना,
कहलाते हो तुम दीनानाथ,
कहलाते हो तुम दीनानाथ,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
कन्हैया मेरी लाज रखना,
बडे नाजुक है मेरे हालात,
कन्हैया मेरी लाज रखना।।

Singer – Sumitra Banerjee


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें