​अवध में छाई खुशी की बेला लगा है अवध पुरी में मेला भजन

​अवध में छाई खुशी की बेला ,
लगा है अवध पुरी में मेला।। 



राम लक्ष्मण भरत शत्रुघ्न,
संग में नाचे हनुमत चेला,
लगा है अवध पुरी में मेला।।
​अवध मे छाई खुशी की बेला ,
लगा है अवध पुरी में मेला।।



देश देश से भूपति आये,
राजा और महाराजा आये,
अवध में देखो लगा है झमेला,
लगा है अवध पुरी में मेला।।
​अवध मे छाई खुशी की बेला ,
लगा है अवध पुरी में मेला।। 



आओ रे आओ नाचो गाओ,
सब मिल करके मंगल गाओं,
अवध में देखो लगा है झमेला,
लगा है अवध पुरी में मेला।।
​अवध मे छाई खुशी की बेला ,
लगा है अवध पुरी में मेला।। 

This bhajan is ispired by great bhajan singer Shri Shambhu ustad ji.


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें