प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन अगर मैया तेरी किरपा ना होती भजन लिरिक्स

अगर मैया तेरी किरपा ना होती भजन लिरिक्स

अगर मैया तेरी,
किरपा ना होती,
गरीबों को दुनिया,
जीने का देती,
अगर मईया तेरी,
किरपा ना होती।।

तर्ज – तुम्ही मेरे मंदिर।



दर दर फिरता,

मैं तो मारा मारा,
तू जो ना देती,
मैया सहारा,
माँ तू सच्चे दिल से जो,
साथ ना देती,
गरीबों को दुनिया,
जीने का देती,
अगर मईया तेरी,
किरपा ना होती।।



युगो युगो से माँ तू,

ममता लुटाए,
रोते हुओं को,
पल में हंसाए,
तू जो अम्बे रानी,
दयालु ना होती,
गरीबों को दुनिया,
जीने का देती,
अगर मईया तेरी,
किरपा ना होती।।



अगर तुम ना भरती,

दीनो की झोली,
ना मनती कभी उनके,
घरो में दिवाली,
सर पे रख के हाथ माँ जो,
खड़ी तू ना होती,
गरीबों को दुनिया,
जीने का देती,
अगर मईया तेरी,
किरपा ना होती।।



अगर मैया तेरी,

किरपा ना होती,
गरीबों को दुनिया,
जीने का देती,
अगर मईया तेरी,
किरपा ना होती।।

Singer – Dev Kumar


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।