आयी नवरात्रि मारी माँ पधारो मारे आंगन माय

आयी नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।

दोहा – अष्ट पोर चौसठ घड़ी,
मै सिवरू मैया को,
पट मंदिर का खोल दे माँ,
दर्शन दिजो मोय।

आयी नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय,
अरे आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय,
ए मारे आंगन माय मावडी,
मारे आंगन माय,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



सज सोलह सिन्गार भवानी,

मारे आंगन आजो,
अरे सज सोलह सिन्गार भवानी,
मारे आंगन आजो माँ,
अरे चौसठ जोगन बावन भेरू,
चौसठ जोगन बावन भेरू,
सिंह चढेने आईजो माता,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



कंकु गेरा देवु रे छोटना,

अरे कंकु गेरा देवु छोटना,
गेरी मनावर करवु मावडी,
गेरी मनावर करवु,
अरे आंगन माय जाजम ढालु,
अरे आंगन माय जाजम ढालु,
थारो ध्यान लगावु,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



नव बहनो रो झूलरो,

माँ नवदुर्गा केवाई,
अरे नव बहनों रो झूलरो,
माँ नवदुर्गा केवाई,
अरे थारे नाम रो जमलो देरावु,
अरे थारे नाम जमलो देरावु,
थारो जमो जगाई,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



ढोल नगाडा गेरा बाजे,

अरे ढोल नगाडा गेरा बाजे,
थारा मंगल गावु,
ए माता थारा मंगल गावु,
अष्ट सिद्धी नवनिद्धी मानीजो,
अष्ट सिद्धी नवनिद्धी मानीजो,
थारा भजन बनावु,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



देश विदेश भगत मावडी,

थारा गरबा नचावे,
अरे देश विदेश में भगत मावडी,
थारा गरबा नचावे,
मावडी थारा गरबा नचावे,
अरे बालाजी रा विडिया मे,
बालाजी रा विडियो में,
शंकर भजन सुनावे,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।



आई नवरात्रि मारी माँ,

पधारो मारे आंगन माय,
अरे आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय,
ए मारे आंगन माय मावडी,
मारे आंगन माय,
आई नवरात्रि मारी माँ,
पधारो मारे आंगन माय।।

गायक – शंकर जी टाक।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें