आया रे जनमदिन श्याम धणी का भजन लिरिक्स

आया रे जनमदिन श्याम धणी का,
उत्सव आया महाबली का,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।

तर्ज – म्हारी रे मंगेतर।



माखन मिशरी केक मँगाओ,

छप्पन तरह के भोग लगाओ,
जीमेगा मेरा सरकार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।



हैप्पी बर्थडे आज मना लो,

दिल से माँगो पल में पा लो,
सच्चा है तेरा दरबार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।



तेरी माया तू ही जाने,

प्रेमी तेरे हैं दीवाने,
द्वारे पे लगी है कतार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।



‘माही’ तेरे भजन सुनाता,

अपने दिल की तुम्हे बताता,
कर लेना स्वीकार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।



आया रे जनमदिन श्याम धणी का,

उत्सव आया महाबली का,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
नाचेंगे सब झूम झूम के,
छाई हैं खुशियाँ अपार,
नाचेंगे सब झूम झूम के।।

स्वर – महेश माहि।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें