आवोनी आवोनी खेतेश्वर दाता राजस्थानी भजन लिरिक्स

आवोनी आवोनी खेतेश्वर दाता राजस्थानी भजन लिरिक्स

आवोनी आवोनी खेतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।

तर्ज – बरस बरस म्हारा।



मुकुंद घोड़ो दाता आप ने सोवे,

तुलसाराम जी अरदास करे,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



ढोल नगारा नोबत बाजे,

झालर री झनकार पड़े,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



मेवा रे मिठाई चढ़े रे चूरमो,

निलोडा नारेल चढ़े,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



दूर देशा रा आवे रे जातरी,

मंदिर आगे निवण करे,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



समदडी टेशन रेल दबाई,

टी टी ने परशो बतायो जी,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



‘गोपाल सुथार’ भजन बनावे,

‘पियुष सुथार’ भजन सुनावे,
आवोनी आवोनी खैतेश्वर दाता,
आसोतरा में धाम थारो।।



आवोनी आवोनी खेतेश्वर दाता,

आसोतरा में धाम थारो।।

Singer : Piyush Jangid

यह भजन –
गोपाल सुथार जसोल,
9712406766,
द्वारा प्रेषित।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें