आनंद मेरे गणपति देव पधारो मारवाड़ी गणपति वंदना

भूल्या ने राय समझ तुम देवो,
ह्रदय करो उजियारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।



गणपति देव गुण के दाता,

सरस्वती मात सबकी माता,
काज सबका सारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।



सरस्वती मात संग में लाओ,

बेड़ा मेरा पार लगाओ,
भरो ज्ञान भण्डारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।



जोगी जति संत सन्यासी,

राजा प्रजा ओर बनवासी,
गावे जस तुम्हारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।



गोकुल स्वामी सतगुरु दाता,

दे उपदेश जीव जगाता,
लादूदास पुकारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।



भूल्या ने राय समझ तुम देवो,

ह्रदय करो उजियारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारो,
आनंद मेरे गणपति देव पधारों।।

गायक / प्रेषक – चम्पा लाल प्रजापति।
मालासेरी डूँगरी 89479-15979


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें