आ गए आ गए भोलेनाथ जी बारात ले के लिरिक्स

आ गए आ गए भोलेनाथ जी,
बारात ले के,
बारात लेके शिवजी,
दूल्हा बनके,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।



शिवजी का है रूप निराला,

नागराज को गले में डाला,
शीश में जिनके समाई गंगा,
माथे चंदा दमके,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।



सभी देवगण बने बाराती,

भूत प्रेतों की टोली नाचती,
हिम नगरी में आज सभी ने,
मिलके लगाए ठुमके,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।



गोरा जी ने मन में ठानी,

दूल्हा बने मेरे औघड़ दानी,
कठिन तपस्या देखके शिवजी,
आए नन्दी चढ़के,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।



मैना हिमाचल भी हर्षाए,

शिव संग देवों के दर्शन पाए,
‘श्याम’ भजन संग रसिको ने,
नृत्य किया है जमके,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।



आ गए आ गए भोलेनाथ जी,

बारात ले के,
बारात लेके शिवजी,
दूल्हा बनके,
आ गए आ गए भोलेंनाथ जी,
बारात ले के।।

रचना एवम स्वर – घनश्याम मिढ़ा भिवानी।
संपर्क – 9034121523


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें