यूँ जन्म सफल हो जावे रे कर सत्संग महापुरुषा की

यूँ जन्म सफल हो जावे रे,

दोहा – संग सदा करिए तिन को,
जिन संग कलंक लगे नहीं कोई,
दूर सदा रहिए तिन से पुनी,
मान घटे जु अनादर होई।
संग भलो कर साधुन को तब,
मान और ज्ञान मिले पुनी दोई,
संतन संग जु भारती पूरण,
संत बने भव आपत खोई।



यू जन्म सफल हो जावे रे,

कर सत्संग महापुरुषा की।।



संत वचन महामंत्र मानजे,

मोक्ष सनातन पंथ जाणजे,
भव बंधन संत छुड़ावे ले,
कर सत्संग महापुरुषा की,
यू जन्म सफल हो जावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की।।



लोहा कंचन भया पारस परसे,

मलियागिरी संग तरू सम तरसे,
कागा को हंस बनावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की,
यू जन्म सफल हो जावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की।।



सत्संग सरिता कलीमल धोवे,

ज्याका अंते कर्ण सुद होवे,
बड़ भागी गंगा नावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की,
यू जन्म सफल हो जावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की।।



चेतन भारती गुरु देवे इशारा,

भारती पूरण सत्संग कर प्यारा,
यू सहज परम पद पावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की,
यू जन्म सफल हो जावे रे,
कर सत्संग महापुरुषा की।।



यूँ जन्म सफल हो जावे रे,

कर सत्संग महापुरुषा की।।

गायक – पुरण भारती जी महाराज।
Upload By – Aditya Jatav
8824030646


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

योगी शांतिनाथ जी ने बार बार वंदना भजन लिरिक्स

योगी शांतिनाथ जी ने बार बार वंदना भजन लिरिक्स

योगी शांतिनाथ जी ने, बार बार वंदना, म्हारा गुरूदेव जी ने, बार बार वंदना, बार बार वंदना, हजार बार वंदना, गुरू शांतिनाथ जी ने, बार बार वंदना, म्हारा गुरूदेव जी…

आओ आंगनीये एक बार मारा सार्दुलसिंहजी आप

आओ आंगनीये एक बार मारा सार्दुलसिंहजी आप

आओ आंगनीये एक बार, मारा सार्दुलसिंहजी आप, थोरी घणी करू मनवार, दाता लुल लुल जोडु हाथ, थोरी घणी करू मनवार, दाता लुल लुल जोडु हाथ, आईजो आंगनीये एकबार।। दाता घणी…

कलश माई कला नेजा रे माई नूर रामदेवजी भजन लिरिक्स

कलश माई कला नेजा रे माई नूर रामदेवजी भजन लिरिक्स

कलश माई कला, नेजा रे माई नूर। दोहा – रामा सामा आवजो, कलजुग बहे रे करू, अरज करू अजमाल रा, हेलो साम्भलजो हुजूर। कलश माई कला, नेजा रे माई नूर,…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे