प्रथम पेज राजस्थानी भजन वेगा पधारो म्हारा सतगुरु कठिन घडी है

वेगा पधारो म्हारा सतगुरु कठिन घडी है

वेगा पधारो म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।

दोहा – सतगुरु आवत देखीया,
ज्यारे खांदे लाल बंदूक,
गोली दागी हरि नाम री,
तो भाग गया जमदूत।

आप बिना मेरो कौन धणी है,
आप बिना मेरों कौन धणी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।



भंवर सागर ओ अथंग जल भरीयो,

भंवर सागर अथंग जल भरीयो,
अरे खेवटीया बनीया आप धणी रे,
खेवटीया बनीया आप धणी रे,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।



दुखीया ने देख दाता देर मत करजो,

दुखीया ने देख दाता देर मत करजो,
अरे देर करन री वेला ओर घडी है,
देर करन की वेला ओर घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।



सतगुरु दाता पर उपकारी,

सतगुरु दाता पर उपकारी,
चरणे आया ने लेवे ऊबारी,
चरणे आया ने लेवे ऊबारी,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।



ए मीरा कहे रे प्रभु अरज हमारी,

मीरा कहे रे प्रभु अरज हमारी,
अरे अरज थोडी ओर गरज घणी है,
अरज थोड़ी ओर गरज घणी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।



आप बिना मेरो कौन धणी है,

आप बिना मेरों कौन धणी है,
वेगा पधारो म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है,
वेगा पधारों म्हारा सतगुरु,
कठिन घडी है।।

गायक – श्याम पालीवाल जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।