थे कल्लाजी आवोला जग मग दिवला जागेला

थे कल्लाजी आवोला,
जग मग दिवला जागेला,
गोडलिया रे वारा आवोला।।



केसरिया साफा सोवेला,

हाथ में खंडो सोवेला,
गोडलिया रे वारा आवोला,
गोडलिये सड़ आवोला,
भगताने दर्शन देवोला,
बेरण माई आवोला।।



भगत भोग लगावो ला,

प्याला री फोफा देवो ला,
थे पाबूजी आवो ला,
थे राठौडा आवो ला,
भगताने दर्शन देवॉला,
जग मग दिवला जागेला,
सलमारा छुपा केसोला,
भगताने दर्शन देवोला,
बेरण माई आवोला।।



ढोल नगाड़ा बाजे ला,

शंख मिटो बाजेला,
अमल कसुबा सडेला,
शल मारा छुपा चडेला,
थे पाबूजी आवो ला।।



कल्लाजी चड़िया रेे चड़िया,

गोडलिया री वारे,
भगता रे बैरण रे माई,
भक्ता ने दर्शन देविया,
पाबूजी चड़िया रे चड़िया,
गाया वाली वारे,
भाई मे लाज बचाविया।।



थे कल्लाजी आवोला,

जग मग दिवला जागेला,
गोडलिया रे वारा आवोला।।

प्रेषक – लोकेश राव।
6378160046


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें