तेरी बाट निहारे राधा सांवरिया आजा रे भजन लिरिक्स

तेरी बाट निहारे राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
अब आजा सांवरिया आजा रे,
अब आजा सांवरिया आजा रे,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।



सिर पे हे गोरस की मटकी,

तेरे दरश हित पथ में अटकी,
आजा रे चितचोर ग्वाले,
ठाडी तेरी गुजरिया,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।



बार बार यमुना तट जाऊं,

आवे कान्हा दर्शन पाऊं,
खान पान पहरन बिसर गए,
लागी जब से नजरिया,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।



दरश दिवानी सुधबुध खो के,

नयन गवाये रही रो रो के,
विरह वेदना सही न जाये,
जागु रैन सगरिया,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।



बरसाने की सिंघ पोर पे,

जावे पुनि पुनि दौड़ दौड़ के,
हरी आवन संदेश कहे कोउ,
सुनी ह्रदय नगरिया,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।



तेरी बाट निहारे राधा,

सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा,
अब आजा सांवरिया आजा रे,
अब आजा सांवरिया आजा रे,
तेरी बाट निहारें राधा,
सांवरिया आजा रे,
आजा सांवरिया आजा।।

स्वर – साध्वी पूनम दीदी।
प्रेषक – राज कपूर, रासेश्वर दास।
दिल्ली, 9810035714


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें