तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी भजन लिरिक्स

तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी,
है दिनों के दाता सुध लो हमारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।

तर्ज – नहीं चाहिए दिल दुखाना।



कोई लाख मांगे करोड़ो भी चाहे,

मेरे श्याम ने आपने खजाने लुटाये,
नहीं गिनती कितनो की बिगड़ी सवारी,
तेरे द्वार पर आ गये हैं भिखारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।



हमने सुना तुम हो करुणा के सागर,

तू इस दिन पर तू इतनी दया कर,
मेरे मन लगन हो प्रभु बस तुम्हारी,
तेरे द्वार पर आ गये हैं भिखारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।



नहीं इस जगत में कोई श्याम सा है,

बिना श्याम के जग ये किस काम का है,
बसों मेरे मन में खाटू बिहारी,
तेरे द्वार पर आ गये हैं भिखारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।



लुटा प्यार इतना जो देखे जमाना,

जपूँ नाम तेरा में बनके दीवाना,
तेरे ‘श्याम-सुंदर’ ने अर्ज ये गुजारी,
तेरे द्वार पर आ गये हैं भिखारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।



तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी,

है दिनों के दाता सुध लो हमारी,
तेरे द्वार पर आ गये हैं भिखारी,
तेरे द्वार पर आ गये है भिखारी।।

Singer : Kemita Rathore


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें