तेरा साथ है तो मुझे क्या फिकर है भजन लिरिक्स

तेरा साथ है तो मुझे क्या फिकर है,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो,
नहीं कोई चिंता ना अंधेरों का डर है,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो।।

तर्ज – तेरा साथ है तो।



नजर लगाए लाख जमाना,

नजर लगाए लाख जमाना,
मेरी मुस्कुराहट मेरी हर खुशी को,
नजर क्या लगे मुझपे तेरी नजर है,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो।।



बने चाहे दुश्मन जमाना ये सारा,

बने चाहे दुश्मन जमाना ये सारा,
तू साथी है तो सब मुझे है गवारा,
‘सोनू’ वो मिटे जो बना खुद के दम से,
वो कैसे मिटे जिसको तूने सवारा,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो।।



तन्हा समझ के मुझको सफर में,

तन्हा समझ के मुझको सफर में,
राहों में मुश्किल हजारों बिछाई,
वो थे बेखबर तू मेरा हमसफ़र है,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो।।



तेरा साथ है तो मुझे क्या फिकर है,

ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो,
नहीं कोई चिंता ना अंधेरों का डर है,
ये बाबा तेरी रहमतों का असर है,
तेरा साथ है तो।।

गायक – शीतल पाण्डेय जी।


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें