तेनु मंगना ना आवे मैया भजन लिरिक्स

माँ बैठी भंडारे खोल के,
तेनु मंगना ना आवे,
तू वी मंग लै जैकारे बोल के,
तैनू मंगना ना आवे।।



मंगन दे विच शर्म है कादी,

अड़ के झोली बैजा ओ भगता,
कदे वी ना इनकार करेगी,
जो लेना ही लै जा ओ भगता,
कुझ मिलदा नई यू बोल के,
तैनू मंगना ना आवे।।



भक्ति सेवा श्रद्धा पूजा,

कर लै जिनि करनी ए,
मुक्ति दाता जगत विधाता,
मैया संकट हरनी ए,
दुख कटदा ए दुख बोल के,
तैनू मंगना ना आवे।।



माँ दे चरना दे विच बै के,

दिल द हाल सुनाई जा,
बदल जान मथे दिया लीका,
मथा रोज गसाई जा,
की खटेया ई जीवन रोल के,
तैनू मंगना ना आवे।।



माँ बैठी भंडारे खोल के,

तेनु मंगना ना आवे,
तू वी मंग लै जैकारे बोल के,
तैनू मंगना ना आवे।।

स्वर – श्री नरेंद्र चंचल जी।
प्रेषक – अमित सागर।
8360252008


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें