तंग मै तो आ गई हूँ तेरे मुरलीधर से भजन लिरिक्स

तंग मै तो आ गई हूँ तेरे मुरलीधर से भजन लिरिक्स

तंग मै तो आ गई हूँ तेरे मुरलीधर से।
तेरे श्याम के डर से, तेरे श्याम के डर से॥
(तर्ज :- मै तुझको भगा लाया हूँ )

तंग मै तो आ गई हूँ तेरे मुरलीधर से।
तेरे श्याम के डर से, तेरे श्याम के डर से॥
तंग मैँ तो …

जालिम है सितमगर है बङा है बेरहम।
आते जाते तंग करता है मुझे हरदम।
हो गया है मुश्किल अब निकलना घर से॥१॥
तेरे श्याम के डर से …

गई थी बेचने माखन मैँ तो वो है आया।
घेर लई मुझको सब ग्वाल बाल ले आया।
दही सारा बिखरा दिया फोड़ मटकी कंकर से॥२॥
तेरे श्याम के डर से …

छीना झपटी करता है बड़ा ही बेदर्दी है।
समझाओ मैया लाला को मेरी यह विनती है।
नहीँ तो करूँगी मैँ शिकायत जाके बाबा नंद से॥३॥
तेरे श्याम के डर से …

बोली यशोदा सुनो तुम गूजरी मस्तानी।
कान्हा आयेगा जब ‘खेदड़’ पूछूँगी ये कहानी।
सजा उसको दूंगी मैँ वादा है ये तुमसे॥४॥
तेरे श्याम के डर से “by pkhedar”

तंग मै तो आ गई हूँ तेरे मुरलीधर से।
तेरे श्याम के डर से, तेरे श्याम के डर से॥
तंग मैँ तो …

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें