ताजमहल से प्यारा खाटू धाम है भजन लिरिक्स

ताजमहल से प्यारा खाटू धाम है भजन लिरिक्स

ताजमहल से प्यारा खाटू धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है,
सात अजूबे इस दुनिया में प्यारे है,
सबसे प्यारे बाबा श्याम हमारे है,
ताजमहल से प्यारा खाटु धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है।।

तर्ज – दूल्हे का सेहरा सुहाना।



खाटू की लकड़ी किसी चन्दन से कम नही,

खाटू की गलियाँ कोई लन्दन से कम नही,
हर प्रेमी को मिले यहाँ उपहार है,
हर प्रेमी को मिले यहाँ उपहार है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है,
ताजमहल से प्यारा खाटु धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है।।



गंगा यमुना जैसा पावन श्याम कुंड का जल,

खाटू आकर लेजा प्यारे हर मुश्किल का हल,
तेरे लिए हर पल बाबा तैयार है,
तेरे लिए हर पल बाबा तैयार है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है,
ताजमहल से प्यारा खाटु धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है।।



चूरमा खाटू का तो संकट को दूर करदे,

दर्शन बाबा के आँखों में सबके नूर भरदे,
‘मित्तल’ की जान इनपे तो निसार है,
‘मित्तल’ की जान इनपे तो निसार है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है,
ताजमहल से प्यारा खाटु धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है।।



ताजमहल से प्यारा खाटू धाम है,

लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है,
सात अजूबे इस दुनिया में प्यारे है,
सबसे प्यारे बाबा श्याम हमारे है,
ताजमहल से प्यारा खाटु धाम है,
लाल किले से प्यारा तोरण द्वार है।।

गायक – कन्हैया मित्तल जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें