स्थापना दिवस भैरव देव का नाकोडा भैरव भजन

स्थापना दिवस भैरव देव का,
प्रतिष्ठा दिन है भैरव देव का,
शुभ दिन ये बना त्योहार,
नाकोडा भेरू देव का,
स्थापना दिवस भैंरव देव का।।

तर्ज – चूड़ी जो खनकी हाथ में।



मेवा नगर के मंदिर में,

मानो आज दीवाली है,
माध सुदी तेरस का दिन,
लाया ये खुशहाली है,
दुनिया दीवानी इनके नाम की,
दुनिया दीवानी इनके नाम की,
बाजे डंका है चारो ओर,
नाकोडा भेरू देव का,
शुभ दिन ये बना त्योहार,
नाकोडा भेरू देव का,
स्थापना दिवस भैंरव देव का।।



श्री हिमाचल सूरी जी ने,

इनकी प्रतिष्ठा कराई है,
भैरव देव की ये प्रतिमा,
घर घर में मूर्ति पूजाई है,
भक्तो के दातार है,
भक्तो के दातार है,
‘नीकलिंग सिस्टर’ करे गुणगान,
नाकोडा भेरू देव का,
‘दिलबर’ भी करे गुणगान,
नाकोडा भेरू देव का,
स्थापना दिवस भैंरव देव का।।



स्थापना दिवस भैरव देव का,

प्रतिष्ठा दिन है भैरव देव का,
शुभ दिन ये बना त्योहार,
नाकोडा भेरू देव का,
स्थापना दिवस भैंरव देव का।।

लेखक / प्रेषक – दिलीप सिंह सिसोदिया दिलबर।
9907023365


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें