श्याम तेरे मुखड़े को जिसने निहारा भजन लिरिक्स

श्याम तेरे मुखड़े को,
जिसने निहारा,
नहीं भूलेगा मेरे श्याम,
ये नजारा ये नजारा,
प्यारे तेरा जलवा है,
ऐसा जादूगारा जादूगारा,
श्याम तेरे मुखडे को,
जिसने निहारा।।

तर्ज – चाँद जैसे मुखड़े पे।



रतन जड़ित ये मुकुट सलोने,

शीश पे सोहे तेरे,
मोर पंखुड़ी लगी किलंगी,
मन को मोहे मेरे,
हिरा ऐसे चमक रहा है,
जैसे सितारा वो सितारा,
नहीं भूलेगा मेरे श्याम,
ये नजारा ये नजारा,
श्याम तेरे मुखडे को,
जिसने निहारा।।



बांकी अदाएं बांके तेरी,

उस पर चाल नवाबी,
फूलों की पंखुड़ियां जैसी,
लब है लाल गुलाबी,
तुमको प्यारे आज बता दे,
किसने संवारा ओ संवारा,
नहीं भूलेगा मेरे श्याम,
ये नजारा ये नजारा,
श्याम तेरे मुखडे को,
जिसने निहारा।।



काजल वाली श्याम तुम्हारी,

ये कजरारी आँखे,
मानो जैसे बोल पड़ेगी,
‘हर्ष’ करेंगी बातें,
फुट रहा है प्रेम का देखो,
कोई फुहारा ओ फुहारा,
Bhajan Diary Lyrics,
नहीं भूलेगा मेरे श्याम,
ये नजारा ये नजारा,
श्याम तेरे मुखडे को,
जिसने निहारा।।



श्याम तेरे मुखड़े को,

जिसने निहारा,
नहीं भूलेगा मेरे श्याम,
ये नजारा ये नजारा,
प्यारे तेरा जलवा है,
ऐसा जादूगारा जादूगारा,
श्याम तेरे मुखडे को,
जिसने निहारा।।

Singer – Vikash Sharma


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें