श्याम जी रंगीला मोहे शरण में लीजिये भजन लिरिक्स

श्याम जी रंगीला मोहे,
शरण में लीजिये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।

तर्ज – तू तो सब जाणे रे।



सदियों से बाबा मैं तो,

चाकरियो थारो हूँ,
फेर भी दयालू देवा,
कईया दुखियारों हूँ,
सिंधु बिच नाव बाबा,
श्याम पार कीजिये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।



जोर जेको चाले जे पर,

बैसू कर जोड़ के,
दुसरो ना दिखे कोई,
सांवरे ने छोड़ के,
दास की पुकार सुनके,
क्यूई तो पसीजीये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।



काम है सदा से मेरो,

हाजरी बजावणो,
गुणगान गा के,
खाटूश्याम ने रिझावनो,
दर को भिखारी थारो,
बेगा सा रिझिये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।



‘श्याम बहादुर’ बाबो,

श्याम दातार है,
‘शिव’ को तो सारो,
बे पे दारमदार है,
श्याम नाम हाला प्याला,
घोल घोल पीजिये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
Bhajan Diary Lyrics,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।



श्याम जी रंगीला मोहे,

शरण में लीजिये,
दृष्टि दया की मोपे,
श्याम कर दीजिये,
श्याम जी रंगीला मोहें,
शरण में लीजिये।।

Singer – Krishna Agarwal


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें