शिव अनादि है शिव ही सत्य है भजन लिरिक्स

शिव अनादि है,

ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय,
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय,
शिव की महिमा है अति भारी,
सबका भोला भण्डारी,
सच्चा दाता एक वहीं है,
हम सब उसके आभारी,
शिव अनादि है,
शिव ही सत्य है,
शिव सब भक्तों के,
सच्चे स्वामी है।।



सब करते शिव भोले की पूजा,

शिव से बढ़कर देव ना दुजा,
शिव ओंकार सब के आधार है,
सृष्टी के शिव सृजनहार है,
सद्गुणो के शिव भण्डार है,
परम् शान्ति,महाकाल शिव,
ग्यान सिन्धु के है धारी,
सच्चा दाता एक वहीं है,
हम सब उसके आभारी,
शिव अनादि हैं,
शिव ही सत्य है,
शिव सब भक्तों के,
सच्चे स्वामी है।।



शिव शंभु का नाम है प्यारा,

सुख शान्ति करूणा का द्वारा,
पहचानो उस परम् शक्ति को,
अपनाओ शिव की भक्ति को,
शिव चरणों मे पाओ मुक्ति को,
डमरू वाला है शिवशंकर,
वो हि है गंगाधारी,
सच्चा दाता एक वहीं है,
हम सब उसके आभारी,
शिव अनादि हैं,
शिव ही सत्य है,
शिव सब भक्तों के,
सच्चे स्वामी है।।



शिव नित्य आदित्य सदा सत्य है,

शिव से बढ़ा ना दुजा तथ्य है,
वेद शास्त्र पुराण यहीं गाते,
जो श्रृद्धा से शिव दर आते,
मुंह मांगा वरदान है पाते,
सत्यम् शिवम् सुन्दरम् ‘आनन्द’,
चरणों में है बलिहारी,
सच्चा दाता एक वहीं है,
हम सब उसके आभारी,
शिव अनादि हैं,
शिव ही सत्य है,
शिव सब भक्तों के,
सच्चे स्वामी है।।



ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय,

ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय,
शिव की महिमा है अति भारी,
सबका भोला भण्डारी,
सच्चा दाता एक वहीं है,
हम सब उसके आभारी,
शिव अनादि हैं,
शिव ही सत्य है,
शिव सब भक्तों के,
सच्चे स्वामी है।।

गायक व रचयिता – Anand Bhatt
9983180516


Watch Here

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें