सांवरो खाटू वारो जिनकी कमाल अखियां भजन लिरिक्स

सांवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां,
देखे खाटू नगरिया,
निहाल अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।



तीन बाण धारी बाबा,

महिमा महान है,
चढ़े लीले घोड़े बाबा,
शोभाए मान है,
बना हारे का सहारा,
बेमिसाल अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।



मांगा कन्हैया जी ने,

शीश का दान है,
रख दिया चरणों में,
किया ना गुमान है,
बही आंसुओं की धार,
मां बेहाल अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।



दिया फिर कन्हैया जी ने,

उनको वरदान है,
शीश के दान जैसा,
दूजा ना कोई दान है,
देखें महाभारत पूरी,
श्याम अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।



मुकुट मणि मूकटा,

कुंडल में रतन है,
कारे कारे कजरारे जुल्मी,
नयन है चरणा पड़े हैं,
‘रतन’ जी हुई निहाल अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।



सांवरो खाटू वारो,

जिनकी कमाल अखियां,
देखे खाटू नगरिया,
निहाल अखियां,
साँवरो खाटू वारो,
जिनकी कमाल अखियां।।

Singer / Upload – Nayna Kinkar
9919262226


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें