सांई मैं तेरी पतंग हवा में उड़ती जाउंगी भजन लिरिक्स

सांई मैं तेरी पतंग,
बाबा मैं तेरी पतंग,
हवा में उड़ती जाउंगी,
बाबा डोर थामे रहना,
नहीं मैं कटती जाउंगी,
सांई मैं तेरी पतंग।।



बड़ी मुश्किल से मिला बाबा,

दरबार तुम्हारा है,
दरबार तुम्हारा है,
मुझे पग पग साई नाथ,
तेरा मिला सहारा है,
तेरा मिला सहारा है,
मैं तेरे ही भरोसे,
गगन में उड़ती जाउंगी,
बाबा डोर थामे रहना,
नहीं मैं कटती जाउंगी,
सांई मैं तेरी पतंग।।



साई चरण कमल से अपने,

मुझे दूर हटाओ ना,
बाबा दूर हटाओ ना,
प्रभु मोह और माया से,
मेरा पेंच लड़ाओ ना,
बाबा पेंच लड़ाओ ना,
जो कट गई तो साई,
फिर मैं लूटी जाउंगी,
बाबा डोर थामे रहना,
नहीं मैं कटती जाउंगी,
सांई मैं तेरी पतंग।।



मैंने तेरे दर पे आके,

एक अलख जगाई है,
बाबा अलख जगाई है,
हो नजरें करम मुझ पर भी,
मेरे साई सरकार की,
मेरे साई सरकार की,
लहरा लहरा चरणों में,
साईं वारि वारि जाउंगी,
बाबा डोर थामे रहना,
नहीं मैं कटती जाउंगी,
सांई मैं तेरी पतंग।।



सांई मैं तेरी पतंग,

बाबा मैं तेरी पतंग,
हवा में उड़ती जाउंगी,
बाबा डोर थामे रहना,
नहीं मैं कटती जाउंगी,
सांई मैं तेरी पतंग।।

Singer – Amit Kaushik


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें