सदा साफ़ रखना तू बन्दे मन का शिवाला लिरिक्स

सदा साफ़ रखना तू बन्दे,
मन का शिवाला,
ना जाने कब कर दे दया,
श्रष्टि रचने वाला,
सदा साफ़ रखना तू बन्दें,
मन का शिवाला।bd।

देखे – अजब है भोलेनाथ ये।



या धनवान हो या निर्धन हो,

सबपे कृपा बराबर तेरी,
या धनवान हो या निर्धन हो,
सबपे कृपा बराबर तेरी,
सबको कर्मो का फल देता,
सोच के देने वाला,
सदा साफ़ रखना तू बन्दें,
मन का शिवाला।bd।



जब माया में भटक के कोई,

तन मन धन खो देता है,
जब माया में भटक के कोई,
तन मन धन खो देता है,
जो प्रभु का सुमिरण करता है,
वो है किस्मत वाला,
सदा साफ़ रखना तू बन्दें,
मन का शिवाला।bd।



जो जाए दरबार में उनके,

वो झोली भर देता है,
जो जाए दरबार में उनके,
वो झोली भर देता है,
देने में सबसे आगे है,
शिव शंकर मतवाला,
Bhajan Diary Lyrics,
सदा साफ़ रखना तू बन्दें,
मन का शिवाला।bd।



सदा साफ़ रखना तू बन्दे,

मन का शिवाला,
ना जाने कब कर दे दया,
श्रष्टि रचने वाला,
सदा साफ़ रखना तू बन्दें,
मन का शिवाला।bd।

Singer – Dhiraj Kant Ji


पिछला भजनमोरे श्यामल वरन के राम राम मोहे प्यारे लगे लिरिक्स
अगला भजनतेरी चौखट पे ऐ श्याम प्यारे सर हमारा झुका ही रहेगा लिरिक्स

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें