सारी दुनिया में गूँजे थारो नाम ओ खाटू वाला श्याम जी लिरिक्स

सारी दुनिया में गूँजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी,
ओ खाटू वाला श्याम जी,
ओ लीले वाला श्याम जी,
सारी दुनिया में गूंजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी।।



निर्बल का बल निर्धन का धन,

थारो रुतबो न्यारो,
हारयोड़ा की जीत करावे,
बाबा श्याम हमारो,
बाबा दर्दी ने देवो थे आराम,
ओ खाटू वाला श्याम जी,
सारी दुनिया में गूंजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी।।



जो कोई लेवे थारो आसरो,

बैठ्यो मौज उड़ावे,
खूंटी तान के सोवे वे ने,
चिंता नहीं सतावे,
बेगा थे ही बणावो सारा काम,
ओ खाटू वाला श्याम जी,
सारी दुनिया में गूंजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी।।



बिन पाणी के नाव चलाओ,

ऐसी है सकलाई,
आंख्या फड़के ‘हर्ष’ भगत की,
थे ही करो सुणाई,
थारे देरी को कोणी कोई काम,
ओ खाटू वाला श्याम जी,
सारी दुनिया में गूंजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी।।



सारी दुनिया में गूँजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी,

ओ खाटू वाला श्याम जी,
ओ लीले वाला श्याम जी,
सारी दुनिया में गूंजे थारो नाम,
ओ खाटू वाला श्याम जी।।

स्वर – सौरभ मधुकर जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें