अरे राम राम रे भाया राम राम रे मारवाड़ी भजन लिरिक्स

अरे राम राम रे भाया राम राम रे मारवाड़ी भजन लिरिक्स

अरे राम राम रे भाया राम राम रे,

श्लोक – राम बुलावा भेजिया,
दिया कबीरा रोय,
जो सुख साधु संग मे,
सौ बैकुंठ न होय।।

अरे राम राम रे भाया राम राम रे,
हे म्हारी बोली चाली रा गुणा माफ,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



हे कठे बेवाडू डोडा ऐल जी रे,

भाया राम-राम रे,
हे ओ तो कठोडे बेवाडू नागर वेल,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



हे कागज वे तो मै वासलू रे,

भाया राम-राम रे,
हे ओ तो कर्म मा सु वाचियो नी जाये,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



हे कुओ वे तो मै डाकलू रे,

भाया राम – राम रे,
हे ओ तो समन्दर मा सु डाकियों नी जाये,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



हे धागों वे तो मै तोड़ दु रे,

भाया राम – राम रे,
हे ओ तो प्रेम मा सु तोड़ियो नी जाय,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



हे टाबर वे तो मै राखलू रे,

भाया राम – राम रे,
हे ओ तो रावल मा सु राखियो नी जाय,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



राणी रूपा के री विनती रे,
भाया राम – राम रे,
म्हारा साधुड़ा रो अमरापुर में वास,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



आया जको ने राम – राम,

गिया जको ने राम – राम,
अरे सब भक्तो ने राम – राम।।

अरे राम राम रे भाया राम राम रे,
हे म्हारी बोली चाली रा गुणा माफ,
भायो ने म्हारा राम राम रे।।



Singer : Asha Ji Vaishnav
– भजन प्रेषक –
संदीप मारवाड़ी
cont. 9649584806
यह भजन इसी ऍप द्वारा जोड़ा गया है।
आप भी अपना भजन यहाँ जोड़ सकते है।


2 टिप्पणी

  1. भाई शब्द को तुक्के से न लिखे।यहां जो अर्थ ही नही है वो शब्द नही होना चाहिए(रावण)
    और छाप रूपा दे जी की है

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें