ओ मेरे बाबा बजरंगी तेरी जय जयकार मनाएंगे भजन लिरिक्स

ओ मेरे बाबा बजरंगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे,
जय जयकार मनाएंगे,
तेरी जय जयकार मनाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरंगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



करम खोल दे उन भक्तो के,

जो द्रष्टि से वंचित है,
द्रष्टि अगर मिल जाएगी तो,
तेरा दर्शन पाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



करम खोल दे उन भक्तो के,

जो चलने से वंचित है,
चलने की शक्ति मिल जाएगी तो,
दर पे चलके आएँगे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



करम खोल दे उन भक्तो के,

जो माया से वंचित है,
माया अगर मिल जाएगी तो,
तो तेरा भवन बनाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



करम खोल दे उन भक्तो के,

जो वाणी से वंचित है,
वाणी अगर मिल जाएगी तो,
राम नाम धुन गाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



करम खोल दे उन भक्तो के,

जो भक्ति से वंचित है,
भक्ति अगर मिल जाएगी तो,
तेरा ही गुण गाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरँगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।



ओ मेरे बाबा बजरंगी,

तेरी जय जयकार मनाएंगे,
जय जयकार मनाएंगे,
तेरी जय जयकार मनाएंगे,
ओ मेरे बाबा बजरंगी,
तेरी जय जयकार मनाएंगे।।


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें