प्रथम पेज प्रकाश माली भजन नाथ जी तो बोले गुरु गम री वाणी रे भजन लिरिक्स

नाथ जी तो बोले गुरु गम री वाणी रे भजन लिरिक्स

नाथ जी तो बोले गुरु गम री वाणी रे,
बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।



काया नगर में मालन रानी रे,

बाग तो पावे रे मालन,
बिना फेरे पोनी रे,
बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।



सोहन शिखर मे घाचन रानी रे,

तेल तो पाडे घोचन,
बिना बलद घोनी रे,
बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।



सुमेर रे शिखर मे धोबन रानी रे,

कपडा धोवे रे धोबन,
बिना साबुन पोनी रे,
बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।



बोलीया गोरख जती उल्टोडी वाणी रे,

छान लीजो दूध,
छान लीजो पोनी रे,
बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।



नाथ जी तो बोले गुरु गम री वाणी रे,

बाबोजी बोले गुरु गम री वाणी रे,
छानीयोडा दूध छानीयोडा पानी रे ए हा।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।