नैन लड़े खाटू वाले श्याम से भजन लिरिक्स

ऐ री सखी,
नैन लड़े खाटू वाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से,
सांवरे सरकार से,
खाटूवाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से।।



एक रात श्याम मेरे,

सपने में आये,
ऐसा लगा मुझको,
पास अपने बिठाये,
हंस हंस के बातें कहीं,
हाय रे इतने प्यार से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से,
सांवरे सरकार से,
खाटूवाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से।।



सोच रही थी मैं कभी,

खाटू धाम जाएँ,
हाल ए दिल अपना मेरे,
श्याम को सुनाएँ,
दिल की लगी दिल ही जाने,
जीते जी या हार के,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से,
सांवरे सरकार से,
खाटूवाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से।।



देते मेरे खाटू श्याम,

हारे को सहारे,
सुनो ‘रघुवीर’ ज़रा,
बैठो तो किनारे,
मिलजुल के भजन करें,
आओ सुध बिसार के,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से,
सांवरे सरकार से,
खाटूवाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से।।



ऐ री सखी,

नैन लड़े खाटू वाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से,
सांवरे सरकार से,
खाटूवाले श्याम से,
दिल ये लुटा बैठी मैं,
सांवरे सरकार से।।

Singer – Pooja Golhani


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

ओ सांवरे ओ प्राण प्यारे सामने कब आओगे लिरिक्स

ओ सांवरे ओ प्राण प्यारे सामने कब आओगे लिरिक्स

ओ सांवरे ओ प्राण प्यारे, सामने कब आओगे, कब होगा मिलना हमारा, कब होगा मिलना हमारा, कब तक यूँ ही तड़पाओगे, ओ साँवरे ओ प्राण प्यारे, सामने कब आओगे।bd। तर्ज…

मेरी नाव पड़ी मझधार बड़ी दूर किनारा लिरिक्स

मेरी नाव पड़ी मझधार बड़ी दूर किनारा लिरिक्स

मेरी नाव पड़ी मझधार, बड़ी दूर किनारा, तेरे बिन लखदातार, बता कौन हमारा, मेरी नाव पडी मझधार, बड़ी दूर किनारा।bd। तर्ज – कि दम दा भरोसा यार। डगमगाए कश्ती गम…

सांवरे क़िस्मत का मारा आपके चरणों में है

सांवरे क़िस्मत का मारा आपके चरणों में है

सांवरे क़िस्मत का मारा, आपके चरणों में है, ये दीन दुखिया बेसहारा, आपके चरणों में है, साँवरे क़िस्मत का मारा, आपके चरणों में है।। तर्ज – लाडली अद्भुत नजारा। ना…

श्याम मुझको भी बुला ले अपने दरबार में भजन लिरिक्स

श्याम मुझको भी बुला ले अपने दरबार में भजन लिरिक्स

श्याम मुझको भी बुला ले, अपने दरबार में, मेरी हर सांस रुकी है, तेरे इन्तजार में, श्याम मुझको भी बुलाले, अपने दरबार में।। तर्ज – थोड़ा सा प्यार हुआ है।…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे