नाचे टाबरिया बाबा रो मंदिरियो फुटरो लागे रामदेवजी भजन

नाचे टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।

दोहा – रुणिचे रा रामदेव,
थारो मंदिर बनियों जोर,
कोयलिया टवका करे,
मीठा बोले मोर।
ऊचो धणी रो देवरो,
रुणीचो दरबार ,
टाबरिया दर्शन करें,
हिवड़ हरख अपार।



नाचे टाबरिया बाबा रो,

मंदिरियो फुटरो लागे,
फुटरो लागे मंदिरियो,
सोवणो लागे।।



दोड़ा दोड़ा जावे टाबरिया,

रुणीचे दरबार,
सालों साल उड़ीके बाबो,
लीले रो असवार,
नाचें टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।।



मैं थारे चरणा रो चाकर,

थे म्हारा भगवान,
थारे भरोसे बैठा बाबा,
राखो मारो मान,
नाचें टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।।



रामदेव बाबा री पुजा,

घर घर गांव गली,
साचा मन सु सिवरे ज्यारी,
बाबे करें भली,
नाचें टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।।



इण कलयुग में बाबा थारी,

जग मे जोत संवाई,
भगता ऊपर किरपा कीजो,
नैया पार लगाई,
नाचें टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।।



गांव काकड़ा जात स्वामी,

रामदास जस गई,
भगता ऊपर कृपा रखो,
थासू आस लगाए,
नाचें टाबरिया बाबा रो,
मंदिरियो फुटरो लागे।।

स्वर – मिलन नेवर।
प्रेषक – सुभाष सारस्वा काकड़ा
9024909170


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें