मारा घट में पधारो मारा बापजी नाथजी रामा पीरजी

मारा घट में पधारो मारा बापजी नाथजी रामा पीरजी

मारा घट में पधारो मारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
दिवला लख लख जगाया,
थारे नाम रा जी,
ओ दिवला लख लख जगाया,
थारे नाम रा जी,
मारे आंगने पधारो मारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।



सारी दुनिया ने छोड थारी शरने मे आयो,

सारी दुनिया ने छोड़ थारी शरने मे आयो,
मोह माया ने गेरीयो अंधीयारो छायो,
मोह माया ने गेरीयो अंधीयारो छायो,
डूबत जीवन री,
डूबत जीवन री नाव तारो बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।



थारी लीला है अनन्त अपार मालका,

थारी लीला है अनन्त अपार मालका,
थारी भक्ति मे शक्ति कमाल मालका,
थारी भक्ति में शक्ति कमाल मालका,
दुर्बल सेवक री,
दुर्बल सेवक री आसपुरो बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।



मारो कुटम कबीलों रा बंधु नारी सारा,

मारो कुटम कबीलों रा बंधु नारी सारा,
चारों ओर बसायो मारी गुट सासा,
चारों ओर बसायो मारी गुट सासा,
डोरी जीवन री,
डोरी जीवन री थामो मारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।



अरजी थाने है बाबा थे घीणो न घीणो,

अरजी थारी है बाबा थे सुनो न सुनो,
मर्जी थारी है बाबा थे सुनो न सुनो,
माली चरणो री,
माली चरणो री धूल तारी बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।



मारा घट में पधारो मारा बापजी,

नाथजी रामा पीरजी,
दिवला लख लख जगाया,
थारे नाम रा जी,
ओ दिवला लख लख जगाया,
थारे नाम रा जी,
मारे आंगने पधारो मारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी,
म्हारा घट में पधारो म्हारा बापजी,
नाथजी रामा पीरजी।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें