मेरी चाह से ज़्यादा तुमने दिया भजन लिरिक्स

मेरी चाह से ज़्यादा तुमने दिया,
हाँ तुमने दिया,
हर पल करूँ मैं तेरा शुक्रिया,
तेरा शुक्रिया।।

तर्ज – दीवाने है दीवानो को ना।



तुम्हारे रहम से गुजारा चले,

गुजारा चले,
ये परिवार भी अब हमारा पले,
हमारा पले,
लगाया मुझे तुमने जबसे गले,
बुरे दिन थे जो अब हो गए भले,
करम अपना ठाकुर जो तुमने किया,
तुमने किया,
हर पल करूँ मैं तेरा शुक्रिया,
तेरा शुक्रिया।।



हुआ धन्य जीवन मेरा आप से,

मेरा आप से,
सुकूं दिल को मिलता तेरे जाप से,
तेरे जाप से,
सुमिर के तुझे मैं बचा पाप से,
दिया तुमने छुटकारा संताप से,
हर लम्हा आनंद से मैंने जिया,
मैंने जिया,
हर पल करूँ मैं तेरा शुक्रिया,
तेरा शुक्रिया।।



तुमसा किसी का निगेहबान हो,

निगेहबान हो,
वो ‘कुंदन’ कभी ना परेशान हो,
परेशान हो,
दयालु बड़े तुम दयावान हो,
तुम ‘बावरा’ की ही पहचान हो,
मेहरबानियों का खज़ाना दिया,
खज़ाना दिया,
हर पल करूँ मैं तेरा शुक्रिया,
तेरा शुक्रिया।।



मेरी चाह से ज़्यादा तुमने दिया,

हाँ तुमने दिया,
हर पल करूँ मैं तेरा शुक्रिया,
तेरा शुक्रिया।।

Singer – Raju Bawra Ji


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें