मेरे गांव में लेके जन्म फेर आइये तू बालाजी भजन लिरिक्स

मेरे गांव में लेके,
जन्म फेर आइये तू,
बाबा घाटे आले अपना,
रूप दिखाईये तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।



जिस घर में तने जन्म मिलेगा,

उस घर में बन फूल खिलेगा,
उंगली पकड के चलेगा,
जग मन भाइए तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।



बाल अवस्था में खेला करांगे,

भक्ति में सबने गेला करांगे,
भूता ने पेला करांगे,
एक पे आ जाईए तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।



ऐसा करो तन में उजियाला,

रटते रहे तेरे नाम की माला,
बंद अकल का ताला,
खोल दिखाईये तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।



रस्ता निहारे तेरा कपतान शर्मा,

कर दो पूरे दिल के अरमा,
नरेंद्र कोशिक करमा,
पलट दिखाईये तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।



मेरे गांव में लेके,

जन्म फेर आइये तू,
बाबा घाटे आले अपना,
रूप दिखाईये तू,
मेरे गाँव में लेके,
जन्म फेर आइये तू।।

गायक – नरेंद्र कौशिक जी।
Upload By – Choudhary Ishu
8930825193


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें