मेरे दिल में तुम रहते हो सांसों में तुम बसते हो लिरिक्स

मेरे दिल में तुम रहते हो,
सांसों में तुम बसते हो,
मैं तुमको बतलाऊं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।

तर्ज – दिल दीवाने का डोला।



मैं हूँ तेरी दीवानी,

नित तेरा दर्शन पाऊं,
तेरे मंदिर आगे बाबा,
मैं नाच नाच कर गाउँ,
भक्तों को तेरी महिमा,
मैं गाकर बतलाऊं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।



तू जिसका हाथ पकड़ ले,

उसका दुनिया क्या कर ले
तू जिसका साथी हो ले,
फिर मनचाहा वो कर ले,
बस इतनी कृपा कर दे,
मैं तेरी हो जाऊं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।



मैं पतंग तेरी बन जाऊं,

हाथों में डोर हम थमाऊँ,
तू कस के डोर पकड़ना,
कहीं बाबा कट ना जाऊं,
मिल जाए जो धूल चरण की,
बस इतना मैं चाहूं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।



सपनों में तुम आते हो,

इक दिन सचमुच में आना,
‘श्रुति शर्मा’ ये बोले,
मुझ से सेवा करवाना,
कहे ‘बाबूलाल’ सांवरिया,
तेरे दिल में बस जाऊं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।



मेरे दिल में तुम रहते हो,

सांसों में तुम बसते हो,
मैं तुमको बतलाऊं,
अब कृपा कर दे सांवरिया,
तेरे रंग में रंग जाऊं।।

स्वर – श्रुति शर्मा।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

लिख दी मैंने कर दी मैंने जिंदगी बिहारी जी के नाम भजन लिरिक्स

लिख दी मैंने कर दी मैंने जिंदगी बिहारी जी के नाम भजन लिरिक्स

लिख दी मैंने कर दी मैंने, जिंदगी बिहारी जी के नाम, लिख दी मैने कर दी मैंने, जिंदगी बिहारी जी के नाम।। तर्ज – करुणामयी कृपामयी राधे। ऐ मेरे बांके…

कलयुग के अवतारी हमें तेरा सहारा है भजन लिरिक्स

कलयुग के अवतारी हमें तेरा सहारा है भजन लिरिक्स

कलयुग के अवतारी, हमें तेरा सहारा है, अपना ले या ठुकरा दे, क्या ज़ोर हमारा है, कलयुग के अवतारीं, हमें तेरा सहारा है।। जब जब संकट आया, बाबा तू बना…

अटक गया मन श्याम मेरा तेरी लटकन में भजन लिरिक्स

अटक गया मन श्याम मेरा तेरी लटकन में भजन लिरिक्स

अटक गया मन श्याम मेरा, तेरी लटकन में, काला जादू है इन काली, अंखियन में, पार जिगर के काजल की, ये धार हुई, बंध गया दिल दीवाना, बाजू बंधन में,…

मैया थारो रूप मन भायो जियो हरषायो भजन लिरिक्स

मैया थारो रूप मन भायो जियो हरषायो भजन लिरिक्स

मैया थारो रूप मन भायो, जियो हरषायो, कुण म्हारी मैया ने सजायो, बनड़ी सी लागे म्हारी माँ, सोणी सोणी लागे म्हारी माँ।। तर्ज – पग पग दीप जलाएं। सिंदूरी थारो…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे