मेरे बाबा शरण ले लो तुम्हारे द्वार आए है लिरिक्स

मेरे बाबा शरण ले लो तुम्हारे द्वार आए है लिरिक्स

मेरे बाबा शरण ले लो,
तुम्हारे द्वार आए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है,
कृपा की इक नज़र कर दो,
कृपा की इक नज़र कर दो,
ज़माने के सताए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है।।

तर्ज – जगत के रंग क्या।



सुनाऊं दर्द मैं किसको,

तेरे बिन कौन दूजा है,
तेरे बिन कौन दूजा है,
ये रिश्ते नाते दुनिया के,
की सब मन से हटाए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है।।



अच्छे वक्त में बाबा,

ये दुनिया साथ देती है,
ये दुनिया साथ देती है,
घड़ी जब आए संकट की,
तो अपने भी पराए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है।।



बचा लो कश्ती अब मेरी,

भंवर में डूबी जाती है,
भंवर में डूबी जाती है,
की हारे के सहारे हो,
यही सुन करके आए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है।।



मेरे बाबा शरण ले लो,

तुम्हारे द्वार आए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है,
कृपा की इक नज़र कर दो,
कृपा की इक नज़र कर दो,
ज़माने के सताए है,
मेरें बाबा शरण ले लों,
तुम्हारे द्वार आए है।।

स्वर – ज्योति तिवारी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें