मैं तो जाउंगी वृन्दावन धाम चित्र विचित्र भजन लिरिक्स

मैं तो जाउंगी वृन्दावन धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।



वृन्दावन से जुड़ गया नाता,

झूठा जग ना मन को भाता,
उनकी चोखट पे चारो धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
मैं तो जाउंगी वृंदावन धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।



वृन्दावन है प्रेम नगरीया,

वहां मिलेंगे बांके सँवरिया,
उनके चरणों में पाऊँ विश्राम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
मैं तो जाउंगी वृंदावन धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।



वृन्दावन मेरे मन भाया,

मन मोहन मेरे मन में समाया,
मेने जीवन लिखा उनके नाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
मैं तो जाउंगी वृन्दावन धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।



चित्र विचित्र पागल के प्यारे,

रोम रोम राधा नाम उचारे,
उनके दर पे हो जीवन की शाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
मैं तो जाउंगी वृन्दावन धाम,
रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।



मैं तो जाउंगी वृन्दावन धाम,

रटूँगी राधा रानी का नाम,
राधे राधे रटूँगी राधे राधे,
राधे राधे जपूँगी राधे राधे।।

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें