मायरा री बेला आई चुनरी बाई ने ओढ़ाई भजन लिरिक्स

मायरा री बेला आई चुनरी बाई ने ओढ़ाई

मायरा री बेला आई,
चुनरी बाई ने ओढ़ाई,
चंग मजीरा बाजे आँगणे,
मन में हरियाली छाई,
चुनरी बाई ने ओढ़ाई,
चंग मजीरा बाजे आँगणे।।



सांवरिया लाल मायरो तो,

भर दे रे,
चुनड़ियाँ ओढ़ा दे सर पर,
भर दे रे,
सांवरिया लाल मायरो तो,
भर दे रे।।



सांवरिया प्यारा,

मतना तू देर लगा,
म्हारी नानी बाई ने तू,
प्यारी सी चुनड़ी ओढ़ा।।



कठे से आई सौंठ,

कठे से आयो ज़ीरो,
कठे सु तो आयो म्हारो,
जामण जायो बीरो,
दिल्ली से आई सुठ,
जयपुर से आयो ज़ीरो,
अरे द्वारका से आयो रे म्हारो,
जामण जायो बीरो।।



मायरा री बेला आई,

चुनरी बाई ने ओढ़ाई,
चंग मजीरा बाजे आँगणे,
मन में हरियाली छाई,
चुनरी बाई ने ओढ़ाई,
चंग मजीरा बाजे आँगणे।।

स्वर – पूज्या जया किशोरी जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें