मनवा खेती करो हरि नाम की भजन लिरिक्स

मनवा खेती करो हरि नाम की,
पैसा ना लागे रुपया ना लागे,
ना लागे कँवड़ी दमड़ी,
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम,
मनवा खेती करों हरि नाम की।।



मन के बैल चहुँ दिशि भटके,

रस्सी लगाओ गुरु ज्ञान की,
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम,
मनवा खेती करों हरि नाम की।।



कहत कबीरा सुनो भाई साधु,

भक्ति करो हरि हर की,
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम,
मनवा खेती करों हरि नाम की।।



मनवा खेती करो हरि नाम की,

पैसा ना लागे रुपया ना लागे,
ना लागे कँवड़ी दमड़ी,
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम,
मनवा खेती करों हरि नाम की।।

स्वर – श्री रघुनाथ जी खण्डलाकर।
प्रेषक – सुर संगम (MK Meena)
9660159589


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

है जिंदगी कितनी खूबसूरत जिन्हें अभी ये पता नही है लिरिक्स

है जिंदगी कितनी खूबसूरत जिन्हें अभी ये पता नही है लिरिक्स

है जिंदगी कितनी खूबसूरत, जिन्हें अभी ये पता नही है, कोई बहुत प्यार करने वाला, जिन्हें अभी तक मिला नही है, है ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत, जिन्हें अभी ये पता नही…

कामदगिरि की करो परिक्रमा ध्यान लगा भगवान का लिरिक्स

कामदगिरि की करो परिक्रमा ध्यान लगा भगवान का लिरिक्स

कामदगिरि की करो परिक्रमा, ध्यान लगा भगवान का, सुफल मनोरथ हो जाएं सब, दर्शन हो श्री राम का।। रामघाट में पहले जायें, मंदाकिनि स्नान को, ब्रह्मा ने जिन शिव को…

जानकी जानकी मैं ना दूँ जानकी भजन लिरिक्स

जानकी जानकी मैं ना दूँ जानकी भजन लिरिक्स

जानकी जानकी मैं ना दूँ जानकी, ( रावण मंदोदरी संवाद ) तर्ज – एक तू जो मिला सारी दुनिया मिली। जानकी जानकी मैं ना दूँ जानकी, मैने बाजी लगाई है जान…

रामाधनी ओ म्हारा रामाधनी भजन लिरिक्स

रामाधनी ओ म्हारा रामाधनी भजन लिरिक्स

रामाधनी ओ म्हारा रामाधनी, थारे रुणिचे दरबार म्हे तो, आया म्हारा रामाधनी।। भक्ता री भीड थारे दरबार आवे, दुर देशा सु भगत पैदल ही आवे, भक्ता री आस बाबा करदो…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे