मंजीरो सीतार मीरा ये लिना हाथ मीराबाई भजन लिरिक्स

मंजीरो सीतार मीरा ये लिना हाथ,
मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।



सोना री ईडाणी थारी रूपा रो घडोलो,

सोना री ईडाणी थारी रूपा रो घडोलो,
अब पानीडो भरूतो मारे गिरधर वर रे काज,
अब पानीडो भरूतो मारे गिरधर वर रे काज,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।



रेशम रा कपड़ा थारा मारे नही चहिजे राणा,

रेशम रा कपडा थारा मारे नही चहिजे,
अरे भगवी चादर ओडने मै हरी भजन मे जाय,
अरे भगवी चादर ओडने मै हरी भजन मे जाय,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।



हिरा माणक थारा मारे नही चहिजे राणा,

हिरा माणक थारा मारे नही चहिजे,
अरे तुलसी री माला पेरने मै हरी भजन मे जाय,
तुलसी री माला पेरने मै हरी भजन मे जाय,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।



बाई मीरा केवे प्रभु श्याम ने भजले राणा,

बाई मीरा केवे प्रभु श्याम ने भजले,
अरे भाव सु भजे ज्यारो बेडो करसी पार,
अरे भाव सु भजे ज्यारो बेडो करसी पार,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।



मंजीरो सीतार मीरा ये लिना हाथ,

मंजीरो सीतार मीरा ऐ लिना हाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ,
अब राणाजी ने कहिजो के गिरधर मारो नाथ।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें