मन्नै दर्शन दे दे हनुमान बहुत दुःख पा लिया लिरिक्स

मन्नै दर्शन दे दे हनुमान बहुत दुःख पा लिया लिरिक्स

मन्नै दर्शन दे दे हनुमान,
बहुत दुःख पा लिया।।



मेहंदीपुर की गली गली में,

तन्नै टोहवता फिर गया,
सालासर में बाला जी मैं,
तेरा नाम सुमिर गया,
थोड़ी दया करो ने भगवान,
बहुत दुःख पा लिया,
मने दर्शन दे दे हनुमान,
बहुत दुःख पा लिया।।



तेरे बिना मैं दुःख पाया,

मेरा और सहारा कोनया,
दर दर धक्के खा लिए,
किते रहया भी बाकी कोनया,
मैं तो बहुत घणा परेशान,
बहुत दुःख पा लिया,
मने दर्शन दे दे हनुमान,
बहुत दुःख पा लिया।।



तेरा भरोसा मानु था हो,

तन्नै भी मुँह मोड़या,
तेरे प्यार में रोए जां सुं,
होया गात का झोड़ा,
तन्नै अपणे भगत का ना ध्यान,
बहुत दुःख पा लिया,
मने दर्शन दे दे हनुमान,
बहुत दुःख पा लिया।।



अशोक भगत ने भूल गया,

मजधार डुबोये मतनया,
तू बेशक तं छोड़ दिये,
पर मैं तो छोडुं कोनया,
तेरा रोज करूगा गुण गान,
बहुत दुःख पा लिया,
मने दर्शन दे दे हनुमान,
बहुत दुःख पा लिया।।



मन्नै दर्शन दे दे हनुमान,

बहुत दुःख पा लिया।।

गायक – नरेंद्र कौशिक जी।
प्रेषक – राकेश कुमार खरक जाटान
9992976579


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें