प्रथम पेज प्रकाश माली भजन मिन्दर री खिड़की वेगी खोल जोशी अजमल आयो है दर्शन करवा ने

मिन्दर री खिड़की वेगी खोल जोशी अजमल आयो है दर्शन करवा ने

मिन्दर री खिड़की वेगी खोल जोशी,
मिन्दर री खिड़की बेगी खोल,
अजमल आयो है दर्शन करवा ने ओ जी,
अजमल आयो है दर्शन करवा ने ओ जी।।



पगरीया पेरीयोडी पग रे माय अजमल,

पगरीया पेरीयोडी पग रे माय,
कैया आया थे मिन्दर मायने ओ जी,
कैया आया रे मिन्दर मायने ओ जी,
लागे घनेरो थाने पाप अजमल,
लागे घनेरो थाने पाप,
पगरीया उतारो मिन्दर बारने ओ जी,
अरे पगरीया उतरो मिन्दर बारने ओ जी।।



परखु मै थारोडो भगवान जोशी,

परखु मै थोरोडो भगवान,
होले लाडू मूरत रे मारीयो ओ जी,
अरे होले लाडू मूरत रे मारीयो ओ जी,
हलचल न कोई मूरत माय जोशी,
हलचल न कोई मूरत माय,
झूठो मिन्दरीयो मै तो जानीयो ओ जी,
अरे झूठो मिन्दरीयो मै तो जानीयो ओ जी।।



अजमल ने गेलो कोई जान भाया,

अजमल ने गेलो कोई जान जोशी,
मिन्दर बारे लावीयो ओ जी,
अरे जोशी मिन्दर रे बारे लावीयो ओ जी,
अजमलजी दौड्या उनरे लार भाईडा,
अजमलजी दौड्या उनरे लार,
बाजू पकड ने पाचो लावीया ओ जी,
अरे बाजू पकड ने पाचो लावीया ओ जी।।



किन जगह रेवे भगवान जोशी,

किन जगह रेवे है भगवान,
पतो ठिकानो देवो नाथ रो ओ जी,
अरे भाई पतो ठिकानो देवो नाथ रो ओ जी,
समन्दर मे सुता है भगवान अजमल,
समन्दर में सुता है भगवान,
करलो भरोसो मारी बात रो ओ जी,
अरे करलो भरोसो मारी बात रो ओ जी।।



अजमल जाय कुदीया समन्दर माय भाया,

अजमल जा कुदीया समन्दर माय,
मिलीया गिरधारी समन्दर मायने ओ जी,
अरे मिलीया गिरधारी समन्दर मायने ओ जी,
दास अशोक महिमा गाय भाईडा,
दास अशोक महिमा गाय,
किरपा किनी पालनीये आयने ओ जी,
अरे किरपा किनी पालनीये आयने ओ जी।।



मिन्दर री खिड़की वेगी खोल जोशी,

मिन्दर री खिड़की बेगी खोल,
अजमल आयो है दर्शन करवा ने ओ जी,
अजमल आयो है दर्शन करवा ने ओ जी।।

गायक – प्रकाश माली जी।
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।