प्रथम पेज कृष्ण भजन मैं रोज बजाऊं हाजरी थारी श्याम धणी सरकार भजन लिरिक्स

मैं रोज बजाऊं हाजरी थारी श्याम धणी सरकार भजन लिरिक्स

मैं रोज बजाऊं हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार,
थे बेगा बेगा आओ,
थे बेगा बेगा आओ,
थारी घणी करा मनुहार,
मैं रोज बजाऊँ हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार।।

तर्ज – देना हो तो दीजिये।



आवण आवण कहता कहता,

बरस घणेरा बीत गया,
याद भी हाँ की सांवरिया थे,
म्हाने दिल से भूल गया,
कोई भूली बिसरी बातां,
कोई भूली बिसरी बातां,
मत याद करो दातार,
मैं रोज बजाऊँ हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार।।



सेवा पूजा चाकरी,

थारी म्हे नहीं जाणू सरकार,
चाकर बणा ल्यो म्हाने भी,
थासु म्हाने इतनी दरकार,
थे एक बार आ जाओ,
थे एक बार आ जाओ,
ना मांगू कोई पगार,
मैं रोज बजाऊँ हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार।।



आओ आओ बेगा आओ,

म्हाने धीर बंधा जाओ,
‘रोहित’ थाने बुला रह्यो है,
बेड़ो पार लगा जाओ,
थाने हिचकी आसी बाबा,
थाने हिचकी आसी बाबा,
‘सत्या’ की बारम्बार,
मैं रोज बजाऊँ हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार।।



मैं रोज बजाऊं हाजरी,

थारी श्याम धणी सरकार,
थे बेगा बेगा आओ,
थे बेगा बेगा आओ,
थारी घणी करा मनुहार,
मैं रोज बजाऊँ हाजरी,
थारी श्याम धणी सरकार।।

Singer – Rohit Kumawat


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।